NEW DELHI: Baba Ramdev की कंपनी Patanjali Foods ने जून तिमाही के नतीजे जारी किए हैं। फाइनेंशियल ईयर 2023–2024 में कंपनी का पहला नेट प्रॉफिट 64 प्रतिशत से घटकर 878 करोड़ रुपये रह गया है। व्यापार ग्रोथ और ऑपरेशनस परफॉरमेंस में कमी से कम्पनी का नेट प्रॉफिट बहुत गिर गया है। इसके बावजूद, इस दौरान कंपनी का रेवेन्यू लगभग आठ प्रतिशत की वृद्धि के साथ 7,787 करोड़ रुपये पहुंच गया। कंपनी का कुल खर्च जुन तिमाही में 7,691 करोड़ रुपये हो गया, जो पिछले साल की समान तिमाही में 7,038 करोड़ रुपये था। कम्पनी का ऑपरेटिंग प्रॉफिट, यानी एबिटा, पिछले साल की जून तिमाही से 57 प्रतिशत गिरकर 169 करोड़ रुपये रह गया, जबकि ऑपरेटिंग मार्जिन 326 बेसिस पॉइंट गिरकर 2.17% रह गया। जून तिमाही में कंपनी के एडिबल ऑयल बिजनस के रेवेन्यू में 13 परसेंट की गिरावट आई और 5,891 करोड़ रुपये रह गया। कंपनी का फूड और एफएमसीजी बिजनस रेवेन्यू 8.2 प्रतिशत बढ़कर 1,952 करोड़ रुपये पहुंच गया।

 

Also Read:Phonepe और Google Pay से मुकाबला: UPI प्लगइन पेमेंट सिस्टम का नवीनीकरण, जानें इसके पीछे की योजना

रुचि सोया इंडस्ट्रीज पहले पतंजलि फूड्स का नाम था। इस कंपनी को इनसॉल्वेंसी प्रक्रिया से बाबा रामदेव ने खरीद लिया था। NCLt ने दिसंबर 2017 में कंपनी के खिलाफ इनसॉल्वेंसी प्रॉसीडिंग शुरू की। जुलाई 2019 में पंतजलि आयुर्वेद के रिजॉल्यूशन प्लान को ट्रिब्यूनल ने मंजूरी दी थी। रिजॉल्यूशन प्लान लागू होने के बाद कंपनी में आम लोगों की हिस्सेदारी घटकर 1.1 प्रतिशत रह गई। कंपनी ने इसके बाद से अक्सर सार्वजनिक सौदे पर अनुसरण किया है। कम्पनी का शेयर शुक्रवार को बीएसई पर 2.32 प्रतिशत की गिरावट के साथ 1293.40 रुपये पर बंद हुआ। यह 52 हफ्ते पहले 1,495.00 रुपये का उच्चतम स्तर 22 सितंबर को छुआ था।

Also Read:घर में सोलर पैनल लगवाने के लिए अनुदान कैसे मिलेगा?

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Exit mobile version