रायपुर : बस्तर से लेकर सरगुजा तक खुले स्थानीय रोजगार के नए आयाम

राजीव युवा मितान क्लब का गठन, युवा ऊर्जा को सकारात्मक रूप से प्रोत्साहित करना

उद्यमिता, नवाचार और स्वरोजगार को बढ़ावा

पुरानी परम्पराएं अब रोजगार से जुड़कर आय का जरिया बन गई हैं

मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना से उद्यम के क्षेत्र में स्वरोजगार करने के इच्छुक युवाओं को कई अवसर मिल रहे हैं। छत्तीसगढ़ सरकार ने ग्रामीण क्षेत्रों के प्रतिभावान युवाओं को उद्यमशील बनाने के लिए कई नवाचारी योजनाओं की शुरुआत की है। रूरल इंडस्ट्रियल पार्क की स्थापना से स्थानीय स्तर पर रोजगार के अवसर बढ़े हैं और स्टार्टअप्स को जमीन, बिजली, पानी, सड़क और बैंकिंग लिंकेज की सुविधा मिली है। इस तरह, सरकार स्थानीय आवश्यकताओं के अनुरूप नौकरी दे रही है।

अब मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की पहल पर युवाओं को स्व-रोजगार के नए अवसर मिल रहे हैं। विशेषकर पिछड़े और आदिवासी क्षेत्रों में सरकार ने लोगों को परम्परागत कामों से जोड़ा है और स्थानीय स्तर पर रोजगार प्रदान किया है। स्थानीय स्तर पर उपलब्ध संसाधनों को न केवल संग्रहित किया जा रहा है, बल्कि स्थानीय स्तर पर उत्पादन इकाइयों का निर्माण और उनका प्रचार भी किया जा रहा है। शहरों में सी-मार्ट बनाया गया है ताकि गांवों में बनाए गए विभिन्न उत्पादों को बेच सके।

युवाओं को छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा शुरू किए गए रोजगार मिशन से भी काफी लाभ मिल रहा है। सरकार ने चैनल के माध्यम से उद्योगपतियों, प्रशिक्षकों और नौकरी चाहने वाले युवाओं को जोड़ने का सफल प्रयास किया है। छत्तीसगढ़ सरकार ने बेरोजगारी भत्ता योजना की शुरुआत करते हुए युवाओं को आगे की पढ़ाई और प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करते समय आर्थिक कठिनाइयों से बचाया। सरकार इसके साथ ही युवा प्रतिभाओं को प्रोत्साहित करने और उनके कौशल को बढ़ाने के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम भी चलाती है।

छत्तीसगढ़ सरकार शिक्षा और खेल क्षेत्र में सुविधाओं का निरंतर विस्तार कर रही है। प्रदेश में खेलों को बढ़ावा देने, सुविधाओं और अधोसंरचना का निर्माण करने और खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करने का भी काम किया जा रहा है। साथ ही, छत्तीसगढ़िया ओलंपिक और युवा महोत्सव जैसे बड़े आयोजनों में युवा प्रतिभाओं को तराशने और प्रोत्साहित करने का लक्ष्य है।

Leave a Comment