कर्मचारियों के जख्मों पर मरहम लगाए सरकार ……संयुक्त मोर्चा

 

RAIPUR: छत्तीसगढ़ कर्मचारी अधिकारी संयुक्त मोर्चा ने बयान जारी कर राज्य सरकार से प्रदेश के पौने पांच लाख कर्मचारियों,सवा लाख पेंसनरों के जख्म पर मरहम लगाने की मांग की है ,मोर्चा के प्रमुख अनिल शुक्ला,कमल वर्मा ने संयुक्त बयान में कहा है कि राज्य सरकार ने पिछले साढ़े चार साल के कार्यकाल में कर्मचारियों का केवल शोषण ही किया आज भी देश में सबसे कम मंहगाई भत्ता प्रदेश के कर्मचारियों को दिया जा रहा ,सरकार बनने के बाद कभी भी नियत तिथि से महंगाई भत्ता नहीं दिया गया ,आज भी प्रदेश के कर्मचारियों को एच आर ए छठवें वेतनमान के आधार पर दिया जा रहा है जबकि देश के अन्य राज्य सातवे वेतनमान के आधार पर दे रहे हैं,,मोर्चा के प्रवक्ता संजय तिवारी, चंद्रशेखर तिवारी ने बताया कि संयुक्त मोर्चा ने आज 7 जुलाई के एक दिवसीय आंदोलन तथा 1 अगस्त से अनिश्चित कालीन हड़ताल का विस्तृत व्यौरा  सभी जिला संयोजकों को प्रेषित कर दिया है , सात जुलाई को प्रदेश के सभी जिलों में 158 संगठनों के पौने पांच लाख कर्मचारी धरना रैली निकाल सड़को पर प्रदर्शन कर शाम चार बजे मुख्यमंत्री एवम मुख्य सचिव के नाम ज्ञापन सौंपेंगे संजय तिवारी ने बताया कि पांच सूत्रीय ज्ञापन की प्रति भी सभी जिलों को भेजी गई है जिससे मांगो में एकरूपता रहे । श्री तिवारी ने बताया कि सरकार ने वित्तीय मामले के अलावा गैर वित्तीय मामले में भी कर्मचारियों को सरकार ने अनसुना ही किया गया उत्तरप्रदेश सरकार ने पिछले दिनों 68000 शिक्षको ,तृतीय चतुर्थ श्रेणी के कर्मियों को उनके निवास के समीप स्थांतरित किया प्रदेश में भी ऐसा किया जा सकता है, कमल वर्मा ने दो वर्ष पूर्व स्थानांतरण में पति पत्नी को प्राथमिकता की मांग की थी ,इसी तरह श्री शुक्ला ने तृतीय चतुर्थ श्रेणी के कर्मियों के अंतरजिला स्थांतरण पर वरिष्ठता प्रथम नियुक्ति तिथि से रखे जाने की मांग की थी ,इसी तरह सुभाष स्टेडियम में दर्जन भर संघों ने सी एम का सम्मान करते हुए शिक्षक एल बी संवर्ग,प्रधान पाठक संवर्ग को नियुक्ति तिथि से वरिष्ठता ,देने 20 वर्ष की सेवा पर पूरी पेंशन देने की मांग की थी लेकिन सरकार ने अनसुना किया जिसके चलते आज सभी संवर्ग के कर्मचारी लामबंद हो गए हैं तथा 7 जुलाई को 100% कार्यालय बंद रहेंगे तथा 100% कर्मचारी सड़क पर हड़ताल पर रहेंगे।

यह भी जाने: 6 जुलाई को भूपेश कैबिनेट की बैठक ,सरकार नियमितिकरण पर महत्वपूर्ण निर्णय ले सकती है?

1 thought on “कर्मचारियों के जख्मों पर मरहम लगाए सरकार ……संयुक्त मोर्चा”

Leave a Comment